MUMBAI : राजलक्ष्मी सिंह देवी की पांचवी पुण्यतिथि मानायी गई

नेशनल टीवी इंडिया : (मुंबई) आज दिनांक 16 मई 2019 राजलक्ष्मी फिल्म प्रोडक्शन हाउस के फाउंडर और मालकिन स्वर्गीय राजलक्ष्मी सिंह देवी जी की पांंचवी पुण्यतिथि मनाई गई। इस मौके पर राजलक्ष्मी फिल्म प्रोडक्शन हाउस के मुंबई स्थित कार्पोरेट ऑफिस 5/21 कैैैैलाश नगर, शंकर लेन कांदिवली वेस्ट – 67 , व पटना के कंंकङबाग अशोक नगर रोड नंबर -7 स्थिति रजिस्ट्रड ऑफिस में सर्वधर्म प्रार्थना सभा एवं हवन का आयोजन किया गया ।

तैल्य चित्र पर माल्यार्पण किया 

इस मौके पर स्वर्गीय राजलक्ष्मी सिंह देवी जी पति व शिक्षाविद प्रोफ़ेसर डाॅ. कपिल देव प्रसाद सिंह ने उनके तैल्य चित्र पर माल्यार्पण एवं हवन कर श्रध्दांजलि अर्पित किया। वहीं स्लम वस्ती में रहने वाले गरीब स्कूली बच्चों के बीच पाठ्य सामग्री वितरित किया गया।
श्रद्धांजलि सभा उद्घाटन मुख्य विशिष्ट अतिथि शिक्षाविद प्रोफेसर डाॅ. राम भरत सिंह (मगघ युनिवर्सिटी बोधगया), मुख्य अतिथि प्रोफेसर डॉ उपेंद्र शर्मा, (किसान कालेज बिहार शरिफ) श्री रविन्द्र सिंह (डायरेक्टर सिंह क्लासेज,मोहन गार्डेन दिल्ली) प्रोफेसर डाॅ. महेश कुमार (एस.के.एस कालेज लोहन्डा सिकन्दरा) , बैद्यनाथ रमण  (प्रदेश अध्यक्ष, प्रचार विभाग, भाजपा बिहार), बालीवुड के जाने माने निर्देशक आनंद राउत एवं राजलक्ष्मी फिल्म प्रोडक्शन हाउस एण्ड राजलक्ष्मी फिल्म पीएचआरजेफ ग्रुप के सीइओ/चेयरमैन अविनाश ओंकर आनंद ने संयुक्त रूप से किया।
Rajlaxmi Singh Devi
वहीं डाॅ. प्रोफेसर राम भरत सिंह ने श्रद्धांजलि सभा की अध्यक्षता करते हुए मंच का संचालन किया। वहीं सभा को संबोधित करते हुए सभी गण्यमान्य वक्ताओं ने उनकी सादगी भरे जीवन पर अपने-अपने विचार व्यक्त किए। इस मौके पर श्री रविन्द्र सिंह ने उनके सादगी भरे जीवनशैली पर चर्चा करते हुए कहा कि हम सभी को उनके सदगी और उदारता भरे जीवन से सिख लेते हुए उस पर अपने जीवन में अमल करना चाहिए। डाॅ प्रोफेसर महेश कुमार ने इस श्रद्धांजलि सभा के अंत में आये हुए मंच पर सभी व्याख्याताओं का धन्यवाद ज्ञापन किया।

अविनाश ओंकर आनंद ने उनके याद में कविता पढ़े।

अविनाश ओंकर आनंद ने कहा की एक माँ का कर्ज कोई भी पुत्र कभी नही उतार सकता है। आज मां ने जो मुझे दायित्व  सौपा कर चली गई , मैं उसका निर्वाह कर उनके सपनो को साकार करू यही मेरी दादी माँ के लिए मेरे सच्ची श्रद्धांजलि होगी। मै मां के लिए कुछ पंक्ति बोल रहा हूं
बच्चों को खिलाकर जब सुला देती है मां
तब जाकर थोड़ा-सा सुकून पाती है मां
प्यार कहते हैं किसे और ममता क्या चीज़ है
कोई उन बच्चों से पूछे जिनकी गुज़र जाती है मां
चाहे हम खुशियों में मां को भूल जाएं
जब मुसीबत सिर पर आती है तो याद आती है मां

गण्यमान्य अतिथि बने इस क्षण के गवाह 

इस मौके पर राजलक्ष्मी सिंह देवी जी के बङे पौत्र एवं राजलक्ष्मी फिल्म प्रोडक्शन हाउस एण्ड राजलक्ष्मीफिल्म पीएचआरजेफ ग्रुप  के सीईओ/ चेयरमैन अविनाश ओंकर आनंद, बोर्ड ऑफ डायरेक्टर राकेश सिंह, टेक्निकल डायरेक्टर प्रभा सिंह, मेकअप एण्ड हेयर डायरेक्टर अनामिका सिंह, मिडिया पार्टनर नेशनल टीवी इंडिया के बिहार-झारखंड स्टेट एडिटर जर्नलिस्ट अमित कुमार, उनके बङे पुत्र नवीन कुमार रंजन, सुधीर कुमार, मुरली मनोहर, माडल एक्टर हरे राम शर्मा (मिलन शर्मा), श्यामदेव पाठक एवं समस्त राजलक्ष्मी परिवार के लोग सहित गण्यमान्य लोग मौजूद थे, जो इस अलौकिक क्षण के गवाह बने।

 

Leave a Reply