लखनऊ नगर निगम में गृहकर अब डिजिटल भुगतान से : नगर आयुक्त

Now house tax in Lucknow municipal corporation, by the digital payment : Municipal commissioner

लखनऊ : नगर आयुक्त ने बताया कि लखनऊ नगर निगम में गृहकर अब डिजिटल भुगतान से जमा किया जा सकेगाNow house tax in Lucknow municipal corporation, by the digital payment : Municipal commissioner

भारत सरकार की डिजिटल भुगतान को प्रोत्साहन प्रदान करने की नीति के अनुपालन में नगर आयुक्त के प्रयासों से गृहकर भुगतान की प्रक्रिया के डिजिटाइजेशन एवं सरलीकरण के क्रम में भुगतान विकल्प के रूप में निम्नलिखित सेवाएं प्रारम्भ की गयी है:-


1. समस्त बैंको की नेट बैंकिंग सेवाएं गृहकर भुगतान हेतु स्वीकार की जायेगी।
Now house tax in Lucknow municipal corporation, by the digital payment : Municipal commissioner
Now house tax in Lucknow municipal corporation, by the digital payment : Municipal commissioner

2. कार्पोरेट बैंक एकाउंट के माध्यम से गृहकर भुगतान प्रारम्भ की गयी है। पूर्व में कार्पोरेट बैंकिंग खातो से आनलाइन भुगतान की सुविधा उपलब्ध नहीं थी। पूर्व में एन.ई.एफ.टी./आर.टी.जी.एस. के माध्यम से भुगतान व पोस्टिंग में समय लगता था। इस सुविधा के प्रारम्भ हो जाने पर गृहकर की वास्तविक समय में (रियल टाइम) पोस्टिंग हो सकेगी।

3. समस्त बैंको के डेबिट कार्ड से भुगतान सुविधा प्रारम्भ की गयी है। पूर्व में केवल क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भुगतान प्राप्त किया जाता था।

4. यू.पी.आई. के माध्यम से भुगतान सुविधा प्रारम्भ कर दी गयी है। यू.पी.आई. से भुगतान की सुविधा होने से अन्य एप जैसे भीम एप स्वतः लिंक हो जायेगे।

उपरोक्त सुविधाएं प्रारम्भ होने से नागरिकगण किसी भी स्थान पर मोबाइल अथवा कम्प्यूटर के माध्यम से भुगतान कर सकेगे और उन्हें कार्यालय आने व लाइन में खड़े रहने की आवश्यकता नहीं रह जायेगी।

Now house tax in Lucknow municipal corporation, by the digital payment : Municipal commissioner

अवगत कराया गया किगत वर्ष 15467 आनलाइन ट्रांजेंक्शन के माध्यम से गृहकर मद में रु. 5.04 करोड़ की धनराशि जमा की गयी थी जबकि वर्तमान दिनांक तक 30111 आनलाइन ट्रांजेंक्शन के माध्यम रु. 6.79 करोड़ की धनराशि जमा की जा चुकी है।

वर्तमान में वर्ष में आनलाइन ट्रांजेंक्शन की संख्या में काफी अधिक बढ़ोत्तरी हुई तथा गत वर्ष के सापेक्ष वर्तमान वित्तीय वर्ष के अब तक की अवधि में आनलाइन माध्यम से अधिक धनराशि प्राप्त हुई है। उपरोक्त सुविधाएं प्रारम्भ होने से यह ट्रांजेंक्शन की संख्या व धनराशि में और अधिक बढ़ोत्तरी होगी।

Leave a Reply