अब हिन्दी में एप्प के जरिए ‘व्यापार’ : सुमित अग्रवाल

Now 'business' can be done through app in Hindi : sumit agrawal
लखनऊ अब हिन्दी में एप्प के जरिए ‘व्यापार’ किया जा सकेगा। व्यापार एप्प के सह-संस्थापक सुमित अग्रवाल ने कहा कि यह एक सिम्ली फाइड और फ्री बिजनेस अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है। Now ‘business’ can be done through app in Hindi : sumit agrawal
‘व्यापार’, जो कि एक सिम्ली फाइड और फ्री बिजनेस अकाउंटिंग सॉफ्टवेयर है, ने अपने एप्प पर हिन्दी में रीजनल यूजर इंटरफेस के साथ टेक्नो्लॉजी में भाषा के अंतर को दूर किया है। यह लघु और मध्यम व्यावसायों को भाषा की सीमाओं के बिना बिजनेस अकाउंटिंग जरूरतों पर अधिक फोकस करने में सक्षम बनाता है।
Now 'business' can be done through app in Hindi : sumit agrawal
Now ‘business’ can be done through app in Hindi : sumit agrawal
एप्प को भारत में छोटे व्यावसायों के लिये डिजाइन किया गया है, ताकि बिजनेस अकाउंटिंग और जीएसटी अनुपालन की जटिलताओं को दूर किया जा सके। एसएमबी की विविध जरूरतों को ध्यांन में रखते हुये यह एप्प हिन्दी  में उपलब्ध  है।
इसका लक्ष्य उस समुदाय को सशक्ति बनाना है, जो अंग्रेजी में बातचीत नहीं कर सकता और उनके लिये बिजनेस की दैनिक देखभाल और प्रबंधन को आसान बनाता है। भारत में व्यापार एकमात्र मोबाइल बिलिंग, इंवेंटरी और जीएसटी सॉल्यूरशन है, जो हिन्दीं में उपलब्ध। है।

Now ‘business’ can be done through app in Hindi : sumit agrawal

सुमित अग्रवाल, सह-संस्थापक, व्यापार एप्प ने कहा, ’’भारत में अधिकतर बिजनेस इंटरनेट यूजर गैर-अंग्रेजी भाषी लोग हैं। ऐसे में हमें लगता है कि अधिकतर भारतीय एसएमबी को उनका डिजिटल सफर शुरू करने के लिये एक माध्यम उपलब्ध कराने की जरूरत है। स्थानीयकरण समय की जरूरत है, खासतौर से अत्यधिक विकसित होते बाजारों पर काबिज होने के लिये।
सुमित अग्रवाल ने कहा, भारत में, उत्तरी क्षेत्र देश में एसएमबी एवं उद्यमी गतिविधि का केन्द्र रहा है। हालांकि, यहां पर कई एसएमई व्या्पक चुनौतियों का सामना करते हैं, जो उनकी वृद्धि को बाधित करता है। भाषा एक ऐसी ही बाधा है, जो इन एसएमबी को डिजिटल टेक्नोलॉजी अपनाने में एक बड़ी बाधा बनती है और व्याापार के साथ हम इन बाधाओं को दूर करने का वादा करते है।

Leave a Reply