Connect with us

लखनऊ

राज्यपाल ने पुस्तक ‘माई स्टिंट विद श्री राम नाईक’ का विमोचन किया

Published

on

Governor released the book 'My Stint With shri Ram Naik
लखनऊ : उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने आज राजभवन में परिसहाय मेजर जगमीत सिंह द्वारा लिखित पुस्तक ‘माई स्टिंट विद श्री राम नाईक’ का विमोचन किया। Governor released the book ‘My Stint With shri Ram Naik
इस अवसर पर लेडी गवर्नर कुंदा नाईक, राज्यपाल की पुत्री विशाखा कुलकर्णी, राज्यपाल के अपर मुख्य सचिव हेमन्त राव, विशेष सचिव अशोक चन्द्र, मेजर जगमीत सिंह की पत्नी फ्लाइट लेफ्टिनेंट रमन सिंह तथा राजभवन के अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। पुस्तक में मेजर जगमीत सिंह ने राज्यपाल के साथ अपने डेढ़ वर्ष की सेवा के अनुभवों को छायाचित्रों सहित संग्रहित किया है।
राज्यपाल ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि राजभवन में परिसहाय की विशेष भूमिका होती है। मेजर जगमीत सिंह ने अत्यन्त सुन्दर पुस्तक लिखी है, जिसके शब्द और छायाचित्र दोनों बोलते हैं।
Governor released the book 'My Stint With shri Ram Naik

Governor released the book ‘My Stint With shri Ram Naik

राजभवन के लोग अपने दायित्व के साथ अन्य रचनात्मक कार्य भी करते रहते हैं। पूर्व के परिसहाय मेजर शरत नांबियार एवं श्री गौरव सिंह ने ‘एडीसी-मैनुअल’ लिखी थी, जो अपने आप में सभी राजभवनों के लिये प्रथम मैनुअल थी।
इसी प्रकार राजभवन में कवि के रूप में पुलिस निरीक्षक कुलदीप सिंह तथा अभिनय के क्षेत्र में स्टेज से लेकर फिल्म के पर्दे तक काम करने वाले कमल सिंह यादव की भूमिका भी सराहनीय है। उन्होंने कहा कि राजभवन में हर प्रकार की प्रतिभा पाई जाती है।
श्री नाईक ने कहा कि पुस्तक का विषय वस्तु मैं हूँ पर आज पता चला कि मुझ पर भी कोई करीब से नजर रख रहा है। सेना के अधिकारी सीमा पर शस्त्र चलाने में पारंगत होते हैं पर मेजर जगमीत सिंह कलम से भी मजबूत हैं। उनकी देखने की दृष्टि ‘बहुत सटीक’ है। योग्य समय पर योग्य शब्द और योग्य चित्र का उपयोग किया है।
किताब को पढ़कर लगेगा कि वर्दी में एडीसी जितना अपने दायित्व के प्रति समर्पित होता है, हृदय से उतना ही भावपूर्ण होता है। उन्होंने निरन्तर आगे बढ़ते रहने की सलाह देते हुए कहा कि आगे भी अपना लेखन कार्य जारी रखें। उन्होंने सुझाव दिया कि पुस्तक का हिन्दी अनुवाद भी होना चाहिये जिससे हिन्दी भाषी पाठक भी उसको पढ़ सकें।

Governor released the book ‘My Stint With shri Ram Naik

अपर मुख्य सचिव हेमन्त राव ने बधाई देते हुए कहा कि अक्सर हम लोग अपने सरकारी दायित्वों के दबाव में रहते हुए अन्य रचनात्मक कार्य नहीं कर पाते, परन्तु मेजर जगमीत ने अपने प्रारम्भ के सेवाकाल में एक अच्छी पुस्तक का लेखन किया। मेजर जगमीत ने अपनी व्यस्त दिनचर्या से समय निकालकर पुस्तक लिखी है। पुस्तक में राज्यपाल के व्यवहार, उनका व्यक्तित्व और कृतित्व उभर कर सामने आया है। उन्होंने कहा कि मेजर जगमीत ने पुस्तक में अपने छोटे-छोटे अनुभव को भी बड़े सुन्दर ढंग से प्रस्तुत किया है।

कार्यक्रम का संचालन एवं धन्यवाद ज्ञापन अपर विधि परामर्शी कामेश शुक्ल ने किया।

लखनऊ

यूपी रत्न सम्मान से सम्मानित हुए शिक्षाविद एसकेडी सिंह

Published

on

SKD Singh, an academic who was awarded with UP Ratna award

लखनऊ : एसकेडी ग्रुप के चेयरमेन एसकेडी सिंह को यूपी रत्न से सम्मानित किया गया है। SKD Singh, an academic who was awarded with UP Ratna award

1983 में प्रोफेसर एस.के.डी. सिंह जो कि भौतिक शास्त्र के प्रख्यात प्रोफेसर एवं एस0के0डी0 ग्रुप के चेयरमेन हैं, शिक्षा के क्षेत्र में जिनके योगदान एवं विशिष्ट उपलब्धियों के लिए नेशनल एसोषियन फाॅर वोलेन्टो इनेसिएटिव एण्ड को-आपरेशन, लखनऊ द्वारा 25 जुलाई 2019 को यू0पी0 रत्न से सम्मानित किया गया है।

SKD Singh, an academic who was awarded with UP Ratna award

SKD Singh, an academic who was awarded with UP Ratna award

एस0के0डी0 सिंह को वर्ष 2002 में सर्वश्रेष्ठ शिक्षाविद के ‘भारत ज्योति एवार्ड’ के अतिरिक्त कई अन्य एवार्डो से सम्मानित किया गया।

एस.के.डी. ग्रुप आफ एजूकेशन के अन्तर्गत सर्वप्रथम एस.के.डी. न्यू स्टैण्डर्ड कोचिंग इन्स्टीट्यूट की स्थापना की। जिनके द्वारा 36 साल में हजारों डाक्टर्स व इंजीनियर्स बनाए है।

SKD Singh, an academic who was awarded with UP Ratna award

आपकी प्रेरणा से वर्ष 1997 में आपके ही नाम से एस0के0डी0 एकेडमी इण्टर कालेज की स्थापना हुई। आपके मार्गदर्शन में आज एकेडमी की के पांच शाखाओं के साथ डिग्री कालेज एवं टीचर ट्रेनिंग कालेज की भी स्थापना की गयी।

Continue Reading

Politics

कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालजी देसाई 26 को लखनऊ में

Published

on

Lalji Desai, National President of Congress Seva Dal, in Lucknow on 26 july

लखनऊ। अखिल भारतीय कांग्रेस सेवादल के राष्ट्रीय अध्यक्ष/मुख्य संगठक लालजी देसाई दिनांक 26 जुलाई 2019 को लखनऊ आ रहे हैं। Lalji Desai, National President of Congress Seva Dal, in Lucknow on 26 july

लालजी देसाई भोपाल में हुए सेवादल की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक में तय हुए आगामी एक वर्ष की कार्ययोजना एवं कार्यक्रमों के तहत जोनवार समीक्षा बैठकें करेंगे। बैठकों में प्रदेश कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष डा0 प्रमोद कुमार पाण्डेय भी शामिल रहेंगे।

यह जानकारी देते हुए प्रदेश कांग्रेस सेवादल (मध्य जोन) के अध्यक्ष राजेश सिंह ‘काली’ ने बताया कि लालजी देसाई 26 जुलाई को पूर्वी जोन की बैठक गोरखपुर में, 27 जुलाई को मध्य जोन की बैठक बाराबंकी में एवं दिनांक 28 जुलाई को बुन्देलखण्ड जोन की बैठक कानपुर में आयोजित समीक्षा बैठकें करेंगे।

Lalji Desai, National President of Congress Seva Dal, in Lucknow on 26 july

Lalji Desai, National President of Congress Seva Dal, in Lucknow on 26 july

राजेश सिंह काली ने आगे बताया कि 09 अगस्त 2019 को सभी जोनवार तिरंगा मार्च एवं ब्लाक स्तर पर पदयात्राओं का आयोजन सेवादल द्वारा किया जायेगा। सितम्बर माह में जोनवार सेवादल का प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जायेगा।

उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के महामंत्री एवं प्रवक्ता  ओंकारनाथ सिंह की माताजी पासदेई देवी (उम्र लगभग 94 वर्ष) के आकस्मिक निधन पर उ0प्र0 कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राजबब्बर ने गहरा शोक प्रकट करते हुए दिवंगत आत्मा की शांति एवं शोक संतप्त परिजनों को इस असह्य दुःख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है।

Lalji Desai, National President of Congress Seva Dal, in Lucknow on 26 july

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता बृजेन्द्र कुमार सिंह ने बताया कि पासदेई के निधन पर पूर्व विधायक विनोद चैधरी, पूर्व विधायक राम जियावन, प्रदेश कंग्रेस के उपाध्यक्ष डाॅ0 आर0पी0 त्रिपाठी, कोषाध्यक्ष नईम अहमद सिद्दीकी, वीरेन्द्र मदान, सिद्धार्थ प्रिय श्रीवास्तव, गंगा सिंह एडवोकेट, पंकज तिवारी, संजय सिंह, राजेश सिंह‘काली’, गोपालकृष्ण पाण्डेय एडवोकेट, अमरेन्द्र कुमार एडवोकेट, नीरज तिवारी, मो0 शोएब, सामेश सिंह चैहान, आलोक रैकवार, बृजेश द्विवेदी, मनोज तिवारी, प्रणव त्रिपाठी आदि कांग्रेसजनों ने शोक व्यक्त करते हुए भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की है।

Continue Reading

लखनऊ

लखनऊ नगर निगम में गृहकर अब डिजिटल भुगतान से : नगर आयुक्त

Published

on

Now house tax in Lucknow municipal corporation, by the digital payment : Municipal commissioner

लखनऊ : नगर आयुक्त ने बताया कि लखनऊ नगर निगम में गृहकर अब डिजिटल भुगतान से जमा किया जा सकेगाNow house tax in Lucknow municipal corporation, by the digital payment : Municipal commissioner

भारत सरकार की डिजिटल भुगतान को प्रोत्साहन प्रदान करने की नीति के अनुपालन में नगर आयुक्त के प्रयासों से गृहकर भुगतान की प्रक्रिया के डिजिटाइजेशन एवं सरलीकरण के क्रम में भुगतान विकल्प के रूप में निम्नलिखित सेवाएं प्रारम्भ की गयी है:-


1. समस्त बैंको की नेट बैंकिंग सेवाएं गृहकर भुगतान हेतु स्वीकार की जायेगी।
Now house tax in Lucknow municipal corporation, by the digital payment : Municipal commissioner

Now house tax in Lucknow municipal corporation, by the digital payment : Municipal commissioner


2. कार्पोरेट बैंक एकाउंट के माध्यम से गृहकर भुगतान प्रारम्भ की गयी है। पूर्व में कार्पोरेट बैंकिंग खातो से आनलाइन भुगतान की सुविधा उपलब्ध नहीं थी। पूर्व में एन.ई.एफ.टी./आर.टी.जी.एस. के माध्यम से भुगतान व पोस्टिंग में समय लगता था। इस सुविधा के प्रारम्भ हो जाने पर गृहकर की वास्तविक समय में (रियल टाइम) पोस्टिंग हो सकेगी।

3. समस्त बैंको के डेबिट कार्ड से भुगतान सुविधा प्रारम्भ की गयी है। पूर्व में केवल क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भुगतान प्राप्त किया जाता था।

4. यू.पी.आई. के माध्यम से भुगतान सुविधा प्रारम्भ कर दी गयी है। यू.पी.आई. से भुगतान की सुविधा होने से अन्य एप जैसे भीम एप स्वतः लिंक हो जायेगे।

उपरोक्त सुविधाएं प्रारम्भ होने से नागरिकगण किसी भी स्थान पर मोबाइल अथवा कम्प्यूटर के माध्यम से भुगतान कर सकेगे और उन्हें कार्यालय आने व लाइन में खड़े रहने की आवश्यकता नहीं रह जायेगी।

Now house tax in Lucknow municipal corporation, by the digital payment : Municipal commissioner

अवगत कराया गया किगत वर्ष 15467 आनलाइन ट्रांजेंक्शन के माध्यम से गृहकर मद में रु. 5.04 करोड़ की धनराशि जमा की गयी थी जबकि वर्तमान दिनांक तक 30111 आनलाइन ट्रांजेंक्शन के माध्यम रु. 6.79 करोड़ की धनराशि जमा की जा चुकी है।

वर्तमान में वर्ष में आनलाइन ट्रांजेंक्शन की संख्या में काफी अधिक बढ़ोत्तरी हुई तथा गत वर्ष के सापेक्ष वर्तमान वित्तीय वर्ष के अब तक की अवधि में आनलाइन माध्यम से अधिक धनराशि प्राप्त हुई है। उपरोक्त सुविधाएं प्रारम्भ होने से यह ट्रांजेंक्शन की संख्या व धनराशि में और अधिक बढ़ोत्तरी होगी।
Continue Reading

ट्रेंडिंग स्टोरी